!! ॐ !!


Thursday, May 27, 2010

!! हे भक्त वृन्दो के प्राण प्यारे, नमामि राधे नमामि कृष्णा !!



                         !! जय जय श्री राधे कृष्णा !!

हे भक्त वृन्दो के प्राण प्यारे , नमामि राधे नमामि कृष्णा !
पितु, मात, स्वामी, सखा हमारे, नमामि राधे नमामि कृष्णा !!

हे भक्त वृन्दो के प्राण प्यारे , नमामि राधे नमामि कृष्णा !
तुम्ही हो साथी सखा हमारे , नमामि राधे नमामि कृष्णा !!

आदिशक्ति श्री राधारानी, जय जगजननी, जय कल्याणी !
युगलमूर्ति श्री राधे कृष्णा, दर्शन करत मिटे नहीं तृष्णा !!

दोनों है, दोनों के नैनो के तारे, नमामि राधे नमामि कृष्णा !
हे! भक्तवृन्दो के प्राण प्यारे, नमामि राधे , नमामि कृष्णा !!

सुरमुनि कितने सपने संजोते, योगी जप तप कर युग खोते !
तब जाकर इस युगलमूर्ति के, पूर्णरूप में दर्शन होते !!

ये सृस्ठी सारी यही पुकारे, नमामि राधे नमामि कृष्णा !!
पितु, मात, स्वामी , सखा हमारे, नमामि राधे नमामि कृष्णा !!

राधे कृष्णा राधे कृष्णा, कृष्णा कृष्णा राधे राधे !!
राधे कृष्णा राधे कृष्णा, कृष्णा कृष्णा राधे राधे !!

राधे कृष्णा राधे कृष्णा, कृष्णा कृष्णा राधे राधे...
राधे कृष्णा राधे कृष्णा, कृष्णा कृष्णा राधे राधे...

हे भक्त वृन्दो के प्राण प्यारे , नमामि राधे नमामि कृष्णा !
तुम्ही हो साथी सखा हमारे , नमामि राधे नमामि कृष्णा !!

कृष्णा sssssssss , कृष्णा ssssssss
कृष्णा कृष्णा  sssss राधे राधे ssssss

                       !! जय जय श्री राधे कृष्णा !!


No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में