!! ॐ !!


Saturday, October 23, 2010

!! श्याम मेरे ओ सजन, रहे मुझे तेरी लगन... !!


मेरे इष्टदेव श्री श्याम के श्री चरणों में एक प्रार्थना है कि...



श्याम मेरे ओ सजन, रखना मुझको तू मगन...
और क्या माँगू श्याम, और क्या माँगू श्याम...
श्याम मेरे ओ सजन, रहे मुझे तेरी लगन...
और क्या माँगू श्याम, और क्या माँगू श्याम...


करूँ मैं पूजा सेवा तेरी, करूँ मै तेरी बन्दगी...
प्राण जबतक ये चले साँसे, रहे मेरी यह जिन्दगी...
विचलित न हो कभी यह मन, रहे ध्यान तेरा श्याम....
रहे ध्यान तेरा श्याम...


श्याम मेरे ओ सजन, रहे मुझे तेरी लगन...
और क्या माँगू श्याम, और क्या माँगू श्याम...


नभ मे हो विपदा के बादल, हो घटा कोई साँवली...
हो अगर कोई रात काली, बन के आना चाँदनी...
दूध सा चमके बदन, नभ मे छाना श्याम....
नभ मे छाना श्याम...


श्याम मेरे ओ सजन, रहे मुझे तेरी लगन...
और क्या माँगू श्याम, और क्या माँगू श्याम...


दर्दे दिल की है दवा, मरहम है तू हर घाव की...
हो सुर या नासुर कोई, चाल हो हर दाव की...
'टिकम' का मन है तू वदन, हमदम बनो मेरे श्याम...
हमदम बनो मेरे श्याम...


श्याम मेरे ओ सजन, रहे मुझे तेरी लगन...
और क्या माँगू श्याम, और क्या माँगू श्याम...


              !! खाटू वाले बाबा, जय श्री श्याम !!
              !! जय मोरवीनंदन जय श्री श्याम !!




                         भाव के रचियता : " श्री महाबीर सराफ जी "

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में